वाह आजतक वाह !!!

    28-Aug-2020
|

आजतक एक ऐसा न्यूज चॅनल जो अपनी ब्रेकिंग न्यूज के लिये, अपनी सनसनाटी खबरों के लिये जाना जाता है | लेकिन कल से आजतक जनता के कटघरे में खडा है | और ट्रोल्स का सामना कर रहा है | इसका कारण है, रिया चक्रवर्ती का एक इंटर्व्ह्यू | सुशांत सिंह राजपूत मृत्यु के केस में रिया चक्रवर्ती और उसके भाई शौविक चक्रवर्ती की पूछताछ हो रही है | ईडी की छानबीन भी जारी है, और अब आगे जाकर उनकी सीबीआय जाँच भी होगी | ऐसे में रिया चक्रवर्ती का जो साक्षात्कार कल आजतक की तरफ से राजदीप सरदेसाई ने लिया वह कई सवाल खडे करता है | आखिरकार इस साक्षात्कार की क्या आवश्यकता थी ? साक्षात्कार में रिया को इतने सौम्य तरीके से सवाल क्यों पूछे गए | साक्षात्कार लेना ही था तो सुशांत के पिता जी का या उनकी बहनों का क्यों नहीं लिया ? ऐसे कई सवाल आज इंटनेट पर दिखाई दे रहे हैं | और इसी कारण लोग आजतक के बहिष्कार की मांग कर रहे हैं | और आज तक और राजदीप सरदेसाई ट्रोल हो रहे हैं |


rhea_1  H x W:


राजदीप सरदेसाई अपने तथाकथित लिब्रल विचारों के लिये जाने जाते हैं, जो अधिकतर देशहित के खिलाफ पाए गए हैं | ऐसे में जब संपूर्ण देश सुशांत सिंह राजपूत के साथ खडा है, उन्हें न्याय मिले इसलिये काम कर रहा है, तो ऐसे में राजदीप के द्वारा रिया का ऐसा साक्षात्कार लेना देश में किसी को पसंद नहीं आया है | पूरे इंटरव्ह्यू में जिस प्रकार से रिया से सवाल किये गए हैं, मानों लगता है जैसे उनकी छवि सुधारने का यह किया गया एक प्रयत्न था, ऐसे में राजदीप सरदेसाई पर भी कई प्रश्न खडे होते हैं | राजदीप सरदेसाई के इस तरह से सवाल पूछे जाने को लेकर, या फिर ‘आप कह रही हैं कि आपको अपनी मासूमियत सिद्ध करने का मौका नहीं मिला वह हम आपको दे रहे हैं,” कहना सभी की नजरों में आया है | रिया चक्रवर्ती का मुंबई पुलिस की, महाराष्ट्र सरकार की तारीफ करना, उनके द्वारा उन पर लगाए सभी आरोपों को सिरे से खारिज करना बहुत कुछ कह जाता है |

हमारे देश में कई ऐसे चॅनल्स हैं जो आतंकवादियों के पक्ष को 'मानवाधिकार' के अंतर्गत दिखाते हैं, जेएनयू में देशद्रोह का समर्थन कहते हैं, जो पालघर में हुए साधुओं की मॉब लिंचिंग पर उफ्फ तक नहीं करते, और इसी तरह एक प्राईम सस्पेक्ट को केवल टीआरपी के लिये अपने चॅनल पर बुलाते हैं | ऐसे में लोगों को अवश्य सोचना चाहिये कि वे ऐसे चॅनल या ऐसे पत्रकारों को देखें या नहीं | 









पूरे साक्षात्कार में रिया ने कहा है कि उन पर बेबुनियाद आरोप लगाए गए हैं, और इसके किसी के पास सबूत नहीं है | सुशांत सिंह के पैसों का रिया द्वारा उपयोग, रिया का सुशांत का घर छोड कर जाना और रिया द्वारा यह कहना कि सुशांत ड्रग्स लेते थे, अपने आप में काफी सवाल खडे करता है | इस साक्षात्कार से कई सवाल खडे होते हैं :

१. आजतक देश की आवाज के विरोध में जाकर क्या सिद्ध करना चाह रहा है ?
२. रिया का साक्षात्कार तो लिया गया लेकिन किसी ने सुशांत के पिताजी और बहनों का साक्षात्कार क्यों नहीं लिया ?
३. रिया ने सारा दोष सुशांत की बहनों पर मढ दिया है, ऐसे में उनकी कहानी किसी को क्यों नहीं बताई जा रही ?
४. रिया द्वारा मुंबई पुलिस, महाराष्ट्र सरकार की तारीफ, रिया के हाव भाव, उनका बात करने का लहजा, क्या उन्हें विक्टिम दिखा सकता है ?


इस पूरे साक्षात्कार पर सवाल ये खडे होते हैं कि क्या रिया चक्रवर्ती को जानबूझकर मासूम बता कर उसे बचाने की कोशिश की जा रही है ? क्या यह निष्पक्ष पत्रकारिता के नाम पर रिया चक्रवर्ती को जानबूझ कर शह देने की कोशिश है ? क्या एक चॅनल और एक पत्रकार द्वारा रिया को मासूम दिखाया जा रहा है ? जबकि पूरा देश आज रिया की सीबीआय पूछताछ की मांग कर रहा है | पूरा देश आज रिया पर सवाल खडे कर रहा है |



लोगों का मानना है कि आजतक द्वारा देश की और सुशांत के फॅन्स की भावनाओं को दुखाया गया है | सच क्या है शायद वक्त के साथ सामने आ ही जाएगा, लेकिन तब तक जो कटघरे में खडा है उसे बचाने की कोशिश ना की जाए, और कानून को अपना काम करने दिया जाए, देश की बस यही एक अपेक्षा है |

- निहारिका पोल सर्वटे